Laundry Dry Cleaning Business In India In Hindi

How to Start Laundry or Dry Cleaning Business in India in Hindi

Share and Enjoy !

कैसे आप लांड्री या ड्राई क्लीनिंग का स्माल स्टार्टअप बिजनेस शुरू कर सकते है? जानिए इस ब्लॉग पोस्ट में।

अभी आसानी से अपने घर से फूड डिलीवरी का बिजनेस शुरू करें

नमस्ते स्वागत है आपका स्टार्टअपYogis के इस एपिसोड में जहां पर हम बात करेंगे लॉन्ड्री बिजनेस के बारे में और किस तरीके से आप इस बिजनेस को सर्च सरल तरीके से अपने घर से या बहुत ही कम खर्च में या निवेश करके अब शुरू कर सकते हैं और लॉकडाउन में इस बिजनेस को बढ़ा सकते हैं और पैसा कमा सकते हैं

यह वीडियो उनके लिए है जो अपने घर से शहर कस्बे या मोहल्ले में एक लॉन्ड्री बिजनेस शुरू करना चाहते हैं और बिज़नेस गाइड ढूंढ रहे हैं ताकि आसानी से बिज़नेस शुरू कर सके

जुड़िये हमारे 1% ग्रुप में और बनाये अपने बिज़नेस को सफल

Customer
यहां पर कस्टमर कौन है?
जो इंसान कपड़ा पहनता है वही आपका पोटेंशियल कस्टमर है क्योंकि कपड़ा एक बार गंदा होने से उसको धोना पड़ता है और वही आपका काम है कि आप अपने कस्टमर को मदद करते हैं अपने गंदे कपड़ों को साफ करने में और उसको सबसे बेहतर हालत में पहनने में

User:
– न्यूक्लियर फैमिली
– ओल्ड एज होम जहां पर वयस्क लोग रहते हैं
– स्कूल हॉस्टल कॉलेज के आसपास
– हॉस्पिटल
– होटल्स
– डेकोरेटर्स
Buyer:
यहां पर आपका यूजर ही बायर होता है तो इसलिए जवाब अपने कस्टमर ढूंढ रहे हैं तो आपको अलग तरीके से मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं है आपको सीधे अपने यूजर के पास जाना पड़ेगा और अपना जो सर्विस आप जो उन्हें दे रहे हैं प्रदान कर रहे हैं वह उन्हें ऑफर करना पड़ेगा

Location?
-Urban
-Semi Urban
-Rural

ययह ज्यादातर Urban और Semi-Urban मैं ज्यादा चलेगा क्योंकि यहां पर लोगों के पास इतना समय नहीं होता है कि अपना कपड़ा धोए सूखने के लिए दे और उसको आयरन करें
और इसी जगह पर आप जो कर रहे हैं आप उनका समय बचा रहे हैं और उनको एक बात है सर्विस दे रहे हैं ताकि उनको सर दर्द ना लेना पड़े अपने कपड़ा धोना और उसको आयरन करने का

यह धंधा आपका रूरल एरिया में उतना नहीं चलेगा और आपको ऐसी जगह पर अपने बिजनेस को शुरू करना पड़ेगा जहां पर लोग ज्यादा काम करने में व्यस्त रहते हैं जैसे ऑफिस एरिया या अपना कपड़ा धोने में उसको साफ सफाई करने में उनके पास समय नहीं है या उनके पास वह क्षमता नहीं है कि वह अपने कपड़े को धोए और उसको सूखने के लिए दें – जैसे बुजुर्ग व्यक्ति, ओल्ड एज होम

Licensing:

यहां आपको विशेष कोई लाइसेंस लेने की जरूरत नहीं होती है यहां पर आप लोकल में ट्रेड लाइसेंस लेकर अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं और आप अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं

जब भी आपका बिजनेस बड़ा हो रहा है अब उसका विस्तार कर रहे हैं तो मैं आपको यही सजेशन दूंगा कि आप ISO सर्टिफिकेशन ले सकते हैं और खुद अपने कंपनी को ISO सर्टिफाइड कंपनी बता सकते प्रचार कर या अपने कस्टमर जा रहे रिच कर रहे हैं

क्योंकि आप यहां पर बहुत ज्यादा पानी की खपत करेंगे तो आपको शायद से वाटर लाइसेंस सिंह का ध्यान रखना पड़ेगा और स्पेशल वाटर लाइसेंस का प्रबंध करना पड़ेगा
इस जगह पर थोड़ा सा ख्याल रखें ताकि आपके ऊपर लोकल अफसर या Municipality कार्रवाई ना करें

Capital Investment:
Working Capital:

यहां पर वर्किंग कैपिटल जो आपको चाहिए होगा वह आपको अपने कर्मचारियों को वेतन देने के लिए, अगर बहुत बड़ा मशीन इस्तेमाल कर रहा है कर रहे हैं कपड़ा धोने के लिए तब आपको कमर्शियल बिजली का लाइन लेना तो इस पर थोड़ा सा ध्यान रखें

यहां पर आप छोटा सा वाशिंग मशीन और बहुत ही सिंपल मशीन के साथ अपने बिजनेस को शुरू कर सकते हैं क्योंकि शुरुआती दौर में आपको बहुत बड़ी मशीन की जरूरत नहीं पड़ेगी फिर जैसे आपका कस्टमर पड़ता है वैसे आप अपने मशीन का और अपने व्यवसाय का विस्तार कर सकते हैं

वर्किंग कैपिटल आप अपने साथ एक से ₹200000 लेकर शुरू कर सकते हैं जहां पर आप का मासिक खर्च हो जाएगा

-कर्मचारी के ऊपर लगभग लगभग ₹20000
-बिजली का बिल लगभग ₹10000
-घर भाड़ा लगभग लगभग ₹5000
-ऑनलाइन एवं ऑफलाइन मार्केटिंग लगभग ₹8000

आप बहुत ही आसानी से अपने बिजनेस को बिना किसी इनकम के अलावा भी पांच से छह महीना चला सकते हैं
इसी दौरान आपको नया कस्टमर पकड़ लेना पड़ेगा और अपना बिजनेस को बढ़ाना पड़ेगा

Rent/Owned Property:
शुरुआती दौर में आप भाड़े पर घर को लेकर काम कर सकते हैं फिर जैसे आपका बिजनेस भरता है दूसरे जगह पर बड़े जगह पर आप अपने बिजनेस का विस्तार कर सकते हैं यहां पर अपने प्रॉपर्टी को या प्रॉपर्टी खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी

Equipment Investment:
शुरुआत में आप अपने घर के किचन के सामान के साथ स्टाफ के साथ अपने बिजनेस शुरू कर सकते हैं और धीरे-धीरे अपने का विस्तार कर सकते हैं जैसे बड़ा
कुकर, ब्रेड टोस्टर, बड़ा फ्राइंग पैन इत्यादि इत्यादि

Margin: खाने के बिजनेस में 100% ज्यादा होती है पर यहां पर आप शुरुआती दौर पर मार्जिन कम रखें शुरू कर सकते हैं
यह ध्यान रखें कि ज्यादा मार्जिन का यह मतलब नहीं कि बहुत ज्यादा पैसा कमाएंगे यहां पर आपको वेस्टेज भी ध्यान में रखना पड़ेगा
क्योंकि कच्चा या पका हुआ खाना आप 10 दिन तक स्टोर करके नहीं रख सकते आपको जिस दिन बनाएंगे उस दिन आपको खाना बेचना पड़ेगा या फेंक देना पड़ेगा तो इस पर थोड़ा सा ध्यान रखें।

Industry Type:

फूड इंडस्ट्री
फूड डिलीवरी इंडस्ट्री

Competition:

यहां पर आप का कंपटीशन है
– लोकल रेस्टोरेंट
– बंद होने वाले होटल्स
– आप ही के जैसे घर से बिजनेस शुरू करने वाले बिजनेसमैन
– Swiggy एवं Zomato पर खाना बेचने वाले दुकानदार
– फास्ट फूड वाले

Workforce Required?
-Semi-skilled
-Highly Skilled
-Low Skilled

इस बिजनेस में आपको हाई Skill लेबर की कोई जरूरत नहीं पड़ती है और यहां पर आप Low या सेमी Skilled लेबर से अपना काम चला सकते हैं क्योंकि यहां पर आपको काम सिखाना पड़ेगा काम शुरुआत करने से पहले अपने कर्मचारियों को

How You Can Win?

इस बिजनेस में अगर आप को जीतना है तो आपको दाम कम और क्वालिटी ज्यादा बढ़ाना पड़ेगा
क्योंकि अगर आप घटिया क्वालिटी का खाना देंगे और दाम अगर आप फ्री में भी दे फिर भी लोग खा कर तो बीमार पड़ने वाले हैं फिर वह आपका खाना ना कभी खाएंगे ना आर्डर करेंगे या दूसरों को भी मना करेंगे आपसे खरीदने के लिए

– क्वालिटी पर हमेशा ज्यादा ध्यान दें – अच्छे क्वालिटी का सामान इस्तेमाल करें ताकि आप लंबा बिजनेस जब करेंगे लंबे दौर में आपको इसमें फायदा होगा

– अपने खाने को सही तरीके से मार्केट में देख कर रखें और 30% से 50% मार्जिन में भी अगर आप काम कर दें तो आपका बिजनेस जो है बहुत आगे बढ़ेगा और दाम भी दूसरों के मुताबिक कम होगा

– मार्केटिंग और सेल्स पर ज्यादा ध्यान देना पड़ेगा क्योंकि आप अपने घर से नंदे को शुरू करेंगे तो इसलिए आप फेसबुक मार्केटिंग के माध्यम से या यूट्यूब में अपनी रसोई के खाने बनाने का वीडियो अपलोड करके उसको प्रमोट कर सकते हैं अपने लोकल एरिया में ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को आपके बिजनेस के बारे में आपके खाने के बारे में जानकारी मिले

– ग्राहक के फीडबैक उसको जरूर रिकॉर्ड करके भेजने के लिए कहें ताकि आप उसको इस्तेमाल कर सके ऑनलाइन में अपने बिजनेस को प्रमोट करने के लिए

– अपने बिजनेस को आप सब्सक्रिप्शन मॉडल में चला सकते हैं या नहीं मॉर्निंग में खाना ब्रेकफास्ट, दोपहर का लंच और रात का डिनर आप एक साथ में एक पैकेज के हिसाब से महीने दर महीने आप सब्सक्रिप्शन में सेल कर सकते हैं और जो नॉनवेज होगा या वेज होगा उसी तरीके से उसको अपना प्राइसिंग जो है मॉडिफाई करके अपना सर्विस दे सकते हैं। 

ताकि आपको बार-बार कस्टमर के पीछे भागना ना पड़े और आपका कस्टमर आपके साथ बहुत दिनों तक जुड़ा रहे हो। 

Related Blog Links

Related Videos

Share and Enjoy !

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *